Diwali: Hindi Poems

Diwali: Hindi Poems is a collection of Kavita and liners by Kagaj Kalam. Diwali: Hindi Poems क्या जवाब दूँ , भोलेपन में पूछे गए सवाल का जो अक्सर “मेरा खाली पड़ा अँधेरे में डूबा गाँव ” मुझसे पूछता है। शहर में बिजली है तो दिवाली में  दीये क्यों ???????……… मैंने भी कह दिया: तेरी बहुत…

Read More