Teri Ye Muskuraahat: A Hindi Poem

Teri Ye Muskuraahat Kya Kaam Kar Gayi: A Hindi Poem is about a meaningless smile of a girl in which people try to find the meaning.  Meaningless smile is warm gesture which is not only missing from our society but also ill treated. Sometimes guys take a smile more than just a gesture and the problem starts from there. Guys make things up in their mind and regret when they realize it is not true. You have to be wise to tackle such a situation to avoid you from embarrassment , sometimes this leads to acid attacks, rape, and such types of other heinous crimes.

Visit PahadNama for Hindi Kavita of Pahad.

Teri Ye Muskuraahat Kya Kaam Kar Gayi: A Hindi Kavita

 

तेरी ये मुस्कुराहट, हाय क्या काम कर गई।

न जाने कितने आशिकों को इश्क़ का न्यौता,

और न जाने कितनो को दिल्लगी का पैगाम दे गई।

किसी को कत्ल, किसी को बदनाम कर गयी,

तेरी ये मुस्कुराहट, हाय क्या काम कर गई।

 

किसी का चैन, किसी की नींदे है उड़ाई,

, किसी के सपनो को, किसी की रातों को अपना कर गई

किसी की सोच को, किसी के दिल को अपना गुलाम कर गई,

तेरी ये मुस्कुराहट, हाय क्या काम कर गई।

 

बातें किसी और से तेरी, कब आशिकों को भा पायी,

न जाने किस हक़ से तुझ पर, है  रोक लगाई।

जब तेरी झल्लाहट, उन्हें साफ़  नजर आयी,

तो किसी की गुपचुप और किसी की सरेआम हुई रुसवाई,

तेरी ये मुस्कुराहट, हाय क्या काम कर गई।

 

सोचा तो समझा, मुस्कराहट उसकी बेवजह है,

हमने ही ढूंढी, उसमे कोई वजह है।

अरे हमारी इश्क़ की समझ ही कच्ची है,

सबकुछ झूठ, बस उसकी मुस्कराहट ही सच्ची है।

 

Hope you will understand the smile is just a gesture nothing more than that. If you have some confusion, it is better to ask. To read some other beautiful Hindi poems on Pahad click here.

 

 

 

 

NEXT>>>>>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *