Vigyan Aur Prem | विज्ञान और प्रेम | कविता

Vigyan Aur Prem | विज्ञान और प्रेम | कविता  : सच और कल्पना के बीच फर्क है सिर्फ मानने भर का। विज्ञान और प्रेम  कविता में विज्ञान और प्रेम के एक विषय पर अलग अलग विचार है। दोनों अपने को वास्तविक और दूसरे को काल्पनिक मानते हैं। Watch: PahadNama Listen: PahadNama   Vigyan Aur Prem…

Read More