BEATING: A FUN

BEATING: A FUN

  हेय सुनो।  क्या तुमने भी मेरी तरह मार खायी है। कहीं से पिट के आये हो या किसी को पीट के आये हो। दोनों ही सूरत में घर जाकर, मूरत केवल तुम्हारी ही बिगड़ी हो।   कहीं से गिरे हो या किसी को गिराया हो चोट लगी हो या किसी को लगायी हो कुछ भी …

Pahad Nama: A Story Of Identity Crisis

pahad namak

आजकल देश में CAA के पक्ष और विपक्ष में काफी बहस छिड़ी हुयी है,   कोई कहता है किये पहचान देने वाला क़ानून है, कोई कहता है कि पहचान छीनने वाला   मैं भी एक आम भारतीय की तरह इस बहस में उलझा हुआ था और क्यों न उलझूं : क्रिकेट, राम मंदिर, के बाद …

Understanding: समझ

Understanding

समझ को समझने की समझ मैं लाऊँ कहाँ से, घड़े को तो बनते हुए देखा है सभी ने हाथों में वो सख्ती  वो नरमी  मैं लाऊँ कहाँ से,   ये जरूरत की चीज़ें दुकानों में बिकती कहाँ है न  किताबों में, न पैसों में तो ये मिलती कहाँ है।   अगर गुनगुने पानी की गर्माहट और …

Child And Pressure To Perform: अंकुरित बीज और उस पर आस का बोझ

Child And Pressure To Perform: अंकुरित बीज और उस पर आस का बोझ

Child and Parents’ Pressure to Perform Most of the time, we have seen in our society that parents pressurize their children to be first in their class, sports, and other activity without any second thought. Parents do comparison frequently without failing any chance and feel inferior to their own children several times without caring for …

The War: Stand for the truth

The War: Stand for the truth

War can’t be justified. No stone should be left unturned to prevent the devastation. The one who knows the consequences of war yet is in favor of war with responsibility. It means he wants something on any price. Now anyone who has no responsibility is saying about peace and Buddha’s teaching, these all are the …

Kalam: कुछ दिनों से कलम मेरी,  खुदा खुद को  है समझने लगी।

Kalam: कुछ दिनों से कलम मेरी,  खुदा खुद को  है समझने लगी।

My kalam is not writing anything these days. I am trying to convince her but neither she is writing nor answering me why she doesn’t want to write. So, I assume. May she got pride of her writing and comparing herself to God.   कुछ दिनों से कलम मेरी,  खुदा खुद को  है समझने लगी।   …

Hum Dekhienge: Faiz ki Nazam kitni Hindu Virodhi

Hum Dekhienge: Faiz ki Nazam kitni Hindu Virodhi

ये फैज़ अहमद फैज़ की नज़्म जियाउल हक़ के साम्प्रदायिक और कटरपंथी  पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ पैदा हुयी थी।  मैंने उर्दू के कुछ अलफ़ाज़ हिंदी में अर्थ के साथ लिखें हैं। आजकल ये नज़्म हिन्दू विरोधी बताई जारही है।  आप पढ़िए और बताइये कि ये कितनी हिन्दू विरोधी है.      हम देखेंगे लाज़िम है …

Pollution: A kidnapper

Pollution: A kidnapper

  Kidnapping cases in Gurgaon, Delhi, and Noida make their places in newspaper so often. Recently I have encountered with one of such cases, I think you must have encountered with this so frequently. But I have noticed for the first time. Usually it happens in winter season when pollution level is so high. Actually, …

Attitude Quotes In Hindi

Attitude Quotes

ज़िद्द 1:  है अमीरी तो शौक- ऐ- जुनून रख , ये ज़िद्द है ही कुछ ऐसी  जनाब कई दिन और कई रातें खर्च करवाती हैं।   ज़िद्द 2: NEPOTISM हर जगह नहीं चलता BOSS। ये BODYBUILDING है  ये तो खून और पसीने में भी अन्तर नहीं करता।     ज़िद्द 3: शौक रख ज़िद्द बनने …