class="post-template-default single single-post postid-312 single-format-standard wp-embed-responsive at-sticky-sidebar single-right-sidebar right-sidebar">
LAZINESS: MY WAY OF LIVING
HINDI HINDI POEMS HINDI POEMS ON LIFE

LAZINESS: MY WAY OF LIVING |आलस्य: एक जीवन शैली |

LAZINESS: MY WAY OF LIVING | एक जीने का तरीका | आलस्य बहुत बड़ा दुर्गुण हैं। बचपन से ही काफी बार पढ़ा है। ये हिंदी कविता इससे बिलकुल उलट है। इसमें आलस्य को अपना साथी माना गया है। जो केवल मजाकिया तौर पर ही है उससे ज्यादा कुछ भी नहीं। 

यहाँ देखिये: PahadNama

 

LAZINESS: MY WAY OF LIVING

आलसी नहीं मैं बस, पलट- पलट के सोने का मजा ही कुछ और है।

पांच मिनट के लिए सोता हूँ, पर दो घंटे बाद जागता हूँ।

ऑफिस की एक घंटे की दूरी , कूदते-फाँदते पैंतालीस मिनट में पूरी कर लेता हूँ।

 

आलसी नहीं मैं बस, पलट- पलट के सोने का मजा ही कुछ और है।

लोग कहते हैं की कमरा मेरा बड़ा अस्त-व्यस्त है,

आलसी तू इतना की कुम्भकर्ण भी तेरे आगे पस्त है।

अब क्या बताऊँ लोगों को, गुमी हुई चीज़ों को ढूंढ़ने का इससे अच्छा तरीका मुझे आता नहीं,

तरतीब से रखी चीज़ों से नाता, मुझे कभी भाता नहीं।

 

आलसी नहीं मैं बस, पलट- पलट के सोने का मजा ही कुछ और है।

बिस्तर के नीचे पड़ी सिगरेट की डबियाँ या किचन में औंधे मुँह लेटी बियर की बोतलें,

आलस्य नहीं कलेक्शन है मेरा

कब-कब, किस-किसने साथ दिया

गम और ख़ुशी का ऍम एस एक्सेल है मेरा।

 

आलसी नहीं मैं बस, पलट- पलट के सोने का मजा ही कुछ और है।

नहाने की कोई बात करे या डीओ पे मेरी किसी की नाक ऊठे,

पानी के संकट से उन्हें अवगत कराता हूँ,

डीओ न बीके, तो “बेरोजगारी बढ़ेगी ” ये राग अलापता हूँ।

 

आलसी नहीं मैं बस, पलट- पलट के सोने का मजा ही कुछ और है।

 

LAZINESS: MY WAY OF LIVING

Here is the second Hindi poem on laziness that is more satire than praise to laziness lifestyle.

हाँ सो रहा हूँ मैं,

लापरवाही की चादर लिये हुये,

बेफिक्री का आरामदायक बिछौना बिछाये हुए।

मेहनत से डरकर, छुपकर

सो रहा हूँ मैं।

आगे पढ़िए : हाँ सो रहा हूँ मैं

 

Neend Shayari | नींद शायरी और हिंदी कविता |

 

“इश्क मिला है coffee में या caffeine घुला है इश्क में,

 इत्तफाक नहीं आंखों से नींद का यो नाराज हो जाना

 

रात भर बस ये करवटें हैं

इस राज की सिलवटें सुलझाने को ,

आगे पढ़िए : Neend Shayari 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *