FEW LINES ON FATHER

FEW LINES ON FATHER

HINDI:

1:

चट्टान को भी पिगलते देखा है, 

जब बाप को बेटे की याद में रोते हुए देखा है। 

 

2:

ख़ामोशी उसकी, डाँट से ज्यादा चुबती है,

पिता की नम आंखें, गुस्से से लाल हुई आँखों से ज्यादा सीने में उतरती हैं। 

 

3:

lines on father
lines on father

वो कहते हैं !

नारियल की तरह सख्त हूँ मैं। 

मैंने कहा: 

मेरे बच्चों !

तुम्हे छूने का सलीखा सीखना अभी बाकी हैं। 

4:

papa nd son

प्यार में भी घोटाले होते हैं साहिब,

वरना 

माँ की ममता से सख्ती और “बाप के प्यार के लिए शब्द ” 

गायब नहीं होते। 

5:

father and son

papa nd me

उम्र भर की कमाई जो पूछी 

मेरे घमंड ने पिता से मेरे,

नजरे मुझपे यूँ गड गई, जैसे कोई खजाना देख लिया हो 

 

6:

बहिनों से जलने की कुछ ख़ास वजह नहीं,

बस पिता का घमण्ड बनना चाहता हूँ। 

7:

बाप है वो, तुझे तुझसे बेहतर समझता है,

धक्का देने से पहले, तेरी क्षमता की गहराई जनता है। 

 

Are you one of those who believe that a father lives his whole life to give and only to give things to his son or He doesn’t expect anything else respect. And an ideal son believes that his father didn’t live his life fully because father was busy to fill son’s dream and does his hard work to achieve all the material things to make his father happy. But the truth is they both are doing to make happy each other without let the communication taking place. Do you believe so? because I do. In the next “Hindi Kavita” you will find the same response from both of them. So hit the next button.

 

 

NEXT>>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *